Mera Vidyalaya Essay in Hindi | मेरा विद्यालय निबंध | My School Essay in Hindi 2022

जैसा कि हम सभी को पता है एक बच्चे की प्रथम पाठशाला उसका ‘परिवार‘ होती है और इस पाठशाला के अंदर वह बहुत सारी छोटी-छोटी चीजें, दूसरों को देख-देख कर सीखता है। प्रथम पाठशाला के बाद एक बच्चे की द्वितीय पाठशाला होती है उसका ‘विद्यालय‘ जो कि प्रत्येक विद्यार्थी बच्चे के जीवन का एक महत्वपूर्ण भाग होता है।

Mera Vidyalaya Essay in Hindi
Mera Vidyalaya Essay in Hindi

EssayToNibandh.com पर आज हम मेरा विद्यालय पर निबंध पढ़ेंगे। जो की अलग अलग शब्द सीमा के आधार पर लिखे गए हैं। आप Mera Vidyalaya Par Essay in Hindi को ध्यान से और मन लगाकर पढ़ें और समझें। Mera Vidyalaya Essay in Hindi को निम्न शब्द सीमा के आधार पर लिखा गया है-

Table of Contents

आइये! Vidyalaya Par Nibandh को अलग अलग शब्द सीमाओं के आधार पर पढ़ें।

नोट- यहां पर दिया गया My School Essay कक्षा(For Class) 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12,(विद्यालय में पढ़ने वाले) विद्यार्थियों के साथ-साथ कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए भी मान्य हैं।

मेरा विद्यालय निबंध 5 पंक्तियां

  1. मेरे विद्यालय का नाम ‘सेंट जोसेफ विद्यालय’ हैं।
  2. मेरे विद्यालय में कक्षा नर्सरी से लेकर कक्षा आठवीं तक की पढ़ाई होती है। तथा मेरा विद्यालय तीन मंजिला इमारत का बना हुआ है।
  3. हमारा विद्यालय बहुत ही सुंदर है। और मेरा विद्यालय मुझे बहुत पसंद है।
  4. हमारे विद्यालय में खेल-कूद के लिए बड़ा मैदान है।
  5. हमारे विद्यालय के चारों ओर हरियाली-ही-हरियाली हैं। और हमारे विद्यालय में बगीचे में बहुत सुंदर-सुंदर फूल लगे होते हैं।

My School Essay In Hindi 10 Lines

  1. मेरे विद्यालय का नाम ‘राजेंद्र नगर विद्यालय’ है।
  2. मेरा विद्यालय हज़ारीबाग़ में स्थित है।
  3. मेरा विद्यालय मेरे घर से 2 किलोमीटर दूर है।
  4. मेरे विद्यालय में दूर से आने वाले छात्रों और छात्रों के लिए स्कूल वाहन की भी व्यवस्था हैं। मेरा विद्यालय बहुत ही सुंदर है।
  5. हमारे विद्यालय के सभी अध्यापक बहुत ही योग्य व विद्वान है जो हमें अच्छी-अच्छी बातें सिखाते हैं साथ ही वे हमारे प्रेरणा के स्रोत भी हैं।
  6. हमारे विद्यालय में कैंटीन, पुस्तकालय, कंप्यूटर लैब की भी व्यवस्था है।
  7. हमारे विद्यालय में शुद्ध पेयजल और शौचालय की भी उचित व्यवस्था है।
  8. हमारे विद्यालय में साफ-सफाई का भी विशेष ध्यान रखा जाता है।
  9. जगह-जगह कूड़ेदान लगाए गए हैं। ताकि विद्यालय हमेशा स्वच्छ रहे।
  10. हमारा विद्यालय सबसे अच्छा हैं।

मेरा विद्यालय निबंध 100 शब्दों में

मेरा विद्यालय एक आदर्श विद्यालय है। मेरे विद्यालय का नाम ‘राजकीय उच्च विद्यालय विद्यालय’ हैं। मेरे विद्यालय में पढ़ाई के साथ-साथ खेल-कूद की भी बहुत अच्छी व्यवस्था है। मेरे विद्यालय का वातावरण बहुत ही शांत और सुखमय हैं। मेरे विद्यालय के चारों ओर पेड़-पौधे लगाए गए हैं जिससे चारों तरफ हरियाली फैली हुई है।

मेरे विद्यालय में कक्षा छठी से लेकर कक्षा 10 वीं तक की पढ़ाई होती है। हमारे विद्यालय में पेयजल और शौचालय की भी उत्तम व्यवस्था की गई है। हमारे विद्यालय में 20 से ज्यादा अध्यापक-अध्यापिका है जो योग्य और विद्वान हैं। वह हमें पढ़ाई के साथ-साथ बहुत अच्छी अच्छी सीख बताते हैं और जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा देते हैं। मेरा विद्यालय सबसे अच्छा विद्यालय हैं।


Mera Vidyalaya Essay in Hindi 150 Words

मेरा विद्यालय मुंबई शहर में स्थित है। मेरे विद्यालय का नाम ‘माध्यमिक उच्च विद्यालय’ हैं। मेरा विद्यालय बहुत बड़ा है। मेरा विद्यालय शहर के सबसे अच्छे विद्यालयों में से एक है। मेरे विद्यालय का परिणाम हर साल शत प्रतिशत आता है। मेरा विद्यालय कक्षा नर्सरी से लेकर दसवीं तक है। मेरे विद्यालय में बहुत सारे शिक्षक है जो हमें अलग-अलग विषय पढ़ाते हैं।

मेरे विद्यालय खेलने के लिए एक बहुत बड़ा मैदान है। मेरा विद्यालय दो मंजिला इमारत में बना हुआ है। मेरे विद्यालय में बगीचा भी है जिसमें बहुत ही सुगंधित फूलों को लगाया गया है। हमारे विद्यालय के प्रधानाचार्य बहुत ही अच्छे हैं और अनुशासन को लेकर बहुत स्ट्रिक्ट हैं। वे हम सभी को अनुशासन में रहने के लिए अच्छी-अच्छी सीख देते हैं। मेरे विद्यालय के चारों ओर हरियाली हैं। मेरे विद्यालय में कंप्यूटर लैब और लाइब्रेरी की भी व्यवस्था है जिसमें हम सभी बच्चों को ले जाया जाता है।


मेरा School Par Nibandh 200 शब्द

मेरे विद्यालय का नाम ‘केरल पब्लिक स्कूल’ है। मेरा विद्यालय मेरे घर से दस मिनट की दूरी पर स्थित है। मेरा विद्यालय एक आदर्श विद्यालय हैं। मेरा विद्यालय तीन मंजिला इमारत में बना हुआ है। मेरे विद्यालय के चारों ओर पेड़ लगे हुए हैं, जो हमारे विद्यालय की रौनक बढ़ते है। मेरे विद्यालय में 20 से ज्यादा अध्यापक-अध्यापिका हैं। जो हमें अलग-अलग विषय पढ़ते है।

हमारे विद्यालय में तीस से ज्यादा कक्षाएं हैं। मेरा विद्यालय कक्षा 1 से लेकर कक्षा बारहवीं तक है। मेरा विद्यालय देखने में बड़ा सुंदर लगता है। मेरे विद्यालय में खेलने के लिए बहुत बड़ा मैदान है। हम सब बच्चे वहीं पर सुबह-सुबह प्रार्थना करते हैं। और जब हमारा मध्याह्न-भोजन का समय होता है तो, हम वहीं पर मध्याह्न-भोजन करके हम खेलते भी हैं। मेरे विद्यालय के प्रधानाचार्य का नाम मिसेस शीला दीक्षित है। जो हर दिन हमें अच्छी-अच्छी सीख सिखाती है।

हमारे विद्यालय में समय-समय पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जिस में भाग लेकर हमें बहुत आनंद आता है। मुझे मेरा विद्यालय बहुत पसंद है। मेरा विद्यालय सबसे अच्छा है। मेरे विद्यालय में सप्ताह में एक दिन इको क्लब का आयोजन किया जाता है। इस दिन में हम सभी को पूरे स्कूल की साफ-सफाई करनी होती है और पेड़-पौधों को लगाकर उन्हें पानी डालना होता है। इस कार्य से हम सभी को बहुत अच्छा लगता है।

मेरा विद्यालय निबंध
मेरा विद्यालय निबंध

मेरा विद्यालय निबंध 250 शब्दों में

मेरे विद्यालय का नाम ‘सरस्वती विद्या मंदिर’ है। मैं एक माध्यमिक विद्यालय में पढ़ता हूँ। मेरा विद्यालय मेरे घर से 15 मिनट की दूरी पर स्थित है। मेरा विद्यालय मेरे शहर के सबसे अच्छे विद्यालयों में से एक हैं। हमारे विद्यालय का प्रदर्शन हर वर्ष शत-प्रतिशत रहता है। मेरा विद्यालय में पढ़ाई के साथ-साथ सभी प्रकार की गतिविधियों में अव्वल रहता है। मेरे विद्यालय में लगभग एक हजार विद्यार्थी पढ़ते हैं। तीस से ज्यादा अध्यापक-अध्यापिकाएं हैं जो हमें अलग-अलग विषय पढ़ाते हैं।

इसके अतिरिक्त दो चपरासी और दो माली भी हैं। हमारे अध्यापक बहुत ही योग्य और विद्वान हैं, जिनके कारण हमारा विद्यालय उन्नति की ओर बढ़ता चला जा रहा है। हमारे अध्यापक हमारे लिए प्रेरणा के स्रोत हैं। मेरे विद्यालय में 30 से ज्यादा हवादार, रौनकदार कमरे हैं। मेरे विद्यालय में स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाता है। दूसरी मंजिल पर प्रधानाध्यापक का कक्ष है जो बहुत ही सुंदर हैं। हमारे प्रधानाचार्य बहुत ही सज्जन व्यक्ति हैं जो हमें अच्छी-अच्छी सीख देते हैं। और हमारा मार्गदर्शन भी करते हैं।

हमारे विद्यालय में पेयजल और शौचालय की भी उचित व्यवस्था है। मेरे विद्यालय में सप्ताह में एक दिन योग कक्षा का आयोजन किया जाता है। जिसमें हम सभी को भाग लेना होता है। विद्यालय में एक पुस्तकालय भी हैं जिसमें बहुत सारी पुस्तकें हैं। मेरा विद्यालय सबसे अच्छा विद्यालय है। मुझे अपना विद्यालय बहुत पसंद है। मेरा विद्यालय में खेलने के लिए एक बहुत बड़ा मैदान है। मेरे विद्यालय में निर्धन छात्रों को पढ़ने के लिए छात्रवृत्ति भी दी जाती है। जिसके कारण मुझे मेरा विद्यालय बहुत पसंद है।


Mera Vidyalaya Essay In Hindi 300 Shabd

मेरा विद्यालय रांची शहर में स्थित है। मेरे विद्यालय का नाम ‘रांची माध्यमिक विद्यालय’ हैं। मेरा विद्यालय मेरे घर से बीस मिनट की दूरी पर स्थित है। मैं प्रतिदिन अपने पिताजी के साथ स्कूटर पर बैठ कर अपने विद्यालय जाता हूँ। मेरा विद्यालय बहुत ही बड़ा और सुंदर है। मेरा विद्यालय 3 मंजिला इमारत में बना हुआ है। मेरे विद्यालय में 50 से ज्यादा शिक्षक-शिक्षिकाएं हैं जो हमें अलग-अलग विषयों को पढ़ाते हैं। हमारे विद्यालय में 30 से ज्यादा कक्षाएं हैं।

मेरे विद्यालय में कक्षा नर्सरी से लेकर कक्षा 10 वीं तक पढ़ाई होती है। मेरे विद्यालय में पीने के पानी तथा शौचालय की भी उत्तम व्यवस्था की गई है। मेरे विद्यालय में खेलने के लिए एक बड़ा मैदान है जिसमें हम सभी बच्चे बहुत ही मस्ती से खेलते हैं। सुबह-सुबह इसी मैदान में हम सब प्रार्थना करते हैं। मेरे विद्यालय में लगभग दो हजार विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। मेरे विद्यालय में 2 बगीचे हैं। जिनमें बहुत सुंदर-सुंदर और सुगंधित फूलों को लगाया गया है।

हम सभी बच्चों को हफ्ते में एक दिन इन बगीचों में पानी डालना होता है। तकनीक के बढते महत्व को देखते हुए मेरे विद्यालय में कंप्यूटर लैब भी बनाया गया है। मेरे विद्यालय में लाइब्रेरी भी हैं। सप्ताह में 2 दिन हम सभी बच्चों को कंप्यूटर लैब में ले जाकर तकनीक के बारे में बताया जाता है। हमारे विद्यालय में खेल-कूद के साथ-साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है। जिसमें हम सभी बच्चों को भाग लेने का अवसर प्राप्त होता है। हमारा विद्यालय बहुत ही शांत वातावरण में बना हुआ है।

मेरे विद्यालय में जगह-जगह पर कूड़ेदान बनाया गए हैं। हमारे विद्यालय में साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जाता है। सभी बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ नैतिक शिक्षा भी दी जाती है, जिससे हमारे अंदर धैर्य, सहनशीलता, अनुशासन जैसे मानवीय गुणों का विकास होता है। मेरे विद्यालय में सभी अध्यापक बहुत अच्छे हैं, जिनसे मुझे पढ़ने में बहुत अच्छा लगता है। इसलिए मेरा विद्यालय सबसे अच्छा विद्यालय है।


Essay On School in Hindi 400 Words

मेरे विद्यालय का नाम ‘शिशु विद्या मंदिर’ है। मेरा विद्यालय पटना शहर में स्थित है। मेरा विद्यालय बहुत ही सुंदर है। मेरे विद्यालय में पढ़ाई, खेल-कूद और अन्य प्रकार की गतिविधियाँ भी कराई जाती है, जिस से विधालय में बच्चों का मनोबल बड़े और पढ़ाई में मन लगा रहे। मेरे विद्यालय में 800 विद्यार्थी है। 30 से ज्यादा अध्यापक-अध्यापिकाएं हैं। इसके अतिरिक्त दो चपरासी और दो माली है। हमारे अध्यापक बहुत ही योग्य, निपुण और विद्वान हैं। जो हमें बहुत अच्छे से पढ़ाते हैं और अच्छी-अच्छी सीख भी सिखाते हैं।

मेरे विद्यालय के प्रधानाचार्य बहुत ही अनुशासन प्रिय हैं। वह हर दिन हमें प्रार्थना सभा में अच्छी-अच्छी प्रेरणा की बातें बता कर हमें प्रेरित करते हैं और हमारा मार्गदर्शन करते हैं। हमें उनके विचार बहुत अच्छे लगते हैं। वह हमारे विचारों को भी सुनते हैं। हमारे प्रधानाध्यापक बहुत अच्छे हैं। हमारे स्कूल में एक द्वारपाल भी है जो हमारे विद्यालय के प्रवेश द्वार पर खड़ा रहता है। हमारे विद्यालय के पीछे दो बगीचे हैं जिसने बहुत ही सुंदर-सुंदर फूल लगे हुए हैं।

यह सुंदर-सुंदर फूल हमारा मन मोह लेते है। फूलों से हमारे विद्यालय का वातावरण खुशनुमा हो जाता है। हमारे विद्यालय में बहुत बड़ा मैदान है। जिसमें हम सभी बच्चे सभी प्रकार के खेल-कूद करते हैं। मेरे विद्यालय में अनेक प्रकार के खेल-खेले जाते हैं- शतरंज, वॉलीबॉल, क्रिकेट, फुटबॉल, बैडमिंटन, टेबल टेनिस, ताइक्वांडो जैसे खेल सभी बच्चों को सिखाए जाते हैं। तथा हर वर्ष इनका राज्य स्तरीय आयोजन कर अच्छा प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को प्रोत्साहन राशि और सर्टिफ़िकेट दे उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है।

मेरा विद्यालय दो मंजिला इमारत में बना हुआ है। जिसमें 30 कमरे हैं। जो बहुत ही सुंदर और हवादार है। इसमें विद्यार्थियों के लिए बैठने के लिए बेंच की व्यवस्था की गई है। प्रत्येक कक्षा में कूड़ेदान की भी व्यवस्था की गई है। जिससे विद्यालय में गंदगी ना हो। मेरे विद्यालय में कंप्यूटर लैब भी है। और एक बड़ा पुस्तकालय भी है। हर सप्ताह हमारे विद्यालय में रंगमंच का आयोजन किया जाता है। जिसमें सभी बच्चे बढ़-चढ़कर भाग लेते हैं और अपने हुनर को निखारने का प्रयास करते हैं।

मेरे विद्यालय में समय-समय पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जैसे- पेंटिंग, वाद-विवाद प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, क्विज प्रतियोगिता। जिस में अच्छा प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक से सम्मानित किया जाता है तथा उनका हौसला बढ़ाया जाता है। हमारे विद्यालय में हर साल 15 अगस्त,  26 जनवरी, एनुअल फंक्शन जैसे सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं, जिसमें हम सब बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। 15 अगस्त और 26 जनवरी के दिन एनसीसी (NCC) के विद्यार्थी हमारे विद्यालय में परेड करते हैं। और हमारे प्रधानाचार्य झंडा (तिरंगा) फहराते है। मेरा विद्यालय मेरे लिए बहुत अच्छा है और मुझे अपने विद्यालय में पढ़ने जाना बहुत अच्छा लगता है।

My School Hindi Essay Video

मेरा विद्यालय निबंध 500 शब्दों में

मेरे विद्यालय का नाम ‘दार्जिलिंग पब्लिक स्कूल’ है। मेरा विद्यालय बहुत सुंदर है। मेरे विद्यालय से हर साल दसवीं और बारहवीं के बच्चे मेरिट में आते हैं। हमारा विद्यालय पढ़ाई मे तो शत-प्रतिशत आता ही है साथ-ही-साथ मेरे विद्यालय के छात्र- छात्राएं पढ़ाई के साथ-साथ खेल-कूद में भी अपने विद्यालय का नाम रोशन करते हैं। शहर के सबसे अच्छे विद्यालयों में से एक है, “मेरा विद्यालय“। मेरा विद्यालय मेरे घर से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मेरा विद्यालय 3 मंजिला इमारत में बना हुआ है।

मेरे विद्यालय में 30 से ज्यादा कमरे हैं। मेरे विद्यालय का भवन बहुत ही सुंदर, खुले और हवादार बनाए गए हैं। हर एक कक्षा में कूड़ेदान की व्यवस्था की गई है। साफ-सफाई पर हमारा विद्यालय बहुत विशेष ध्यान देता है। मेरे विद्यालय में 40 अध्यापक-अध्यापिकाएं हैं। हमारे विद्यालय में आने वाले हर विद्यार्थी को अच्छी शिक्षा तो दी ही जाती है साथ-साथ उन्हें बाकी गतिविधियों में शामिल होने के लिए भी प्रेरित किया जाता है। ताकि उनका मानसिक और बौद्धिक विकास हो सके।

मेरे विद्यालय का समय सुबह 7:00 बजे से दोपहर 1:00 बजे तक है। हमारे विद्यालय में के मुख्य द्वार पर ‘देवी सरस्वती की प्रतिमा’ है। हमारे विद्यालय में दो बगीचे हैं। चारों तरफ हरियाली है। बगीचे में बहुत सुंदर-सुंदर सुगंधित फूल लगाए गए हैं। जिनकी सुगंध से हमारे विद्यालय का वातावरण काफी सुगंधित और खुशनुमा हो जाता है। हमारे विद्यालय में कक्षा प्रारंभ होने से पहले प्रार्थना कराई जाती है। और प्रतिदिन हमारे प्रधानाध्यापक हमें नई-नई बातें बताते हैं। जिनसे हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

हमारे प्रधानाध्यापक बहुत ही सज्जन व्यक्ति और अनुशासन को मानने वाले व्यक्ति हैं। मेरे विद्यालय में छात्र-छात्राएं सभी एक साथ पढ़ते हैं। हमारे विद्यालय में अव्वल आने वाले विद्यार्थियों के साथ-साथ निर्धन विद्यार्थियों को भी छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। जिनसे सभी बच्चे हमारे स्कूल में पढ़ सके। और अपना जीवन बना सके। हमारे विद्यालय में कैंटीन भी है। जिसमें हम लंच कर सकते हैं।

हमारे विद्यालय में एक बहुत बड़ा पुस्तकालय हैं जिसमें हमें सभी प्रकार की पुस्तकें बहुत आसानी से मिल जाती है। हमारे विद्यालय में प्रयोगशाला, उचित पेयजल और शौचालय की भी व्यवस्था है। तकनीक के बढ़ते महत्व को देखते हुए हमारे विद्यालय में कंप्यूटर लैब की भी व्यवस्था है। जिसमें हम सभी विद्यार्थियों को हफ्ते में एक दिन ले जाकर तकनीक से रूबरू कराया जाता है। उनके बारे में अहम जानकारियाँ दी जाती है। हमारा विद्यालय एक आदर्श विद्यालय है।

हमारे विद्यालय में विद्यार्थियों के बैठने के लिए टेबल व कुर्सी दी गई है जिस पे विद्यार्थी आराम से बैठकर शिक्षा ग्रहण कर सके। विद्यालय के चारों और ऊंची-ऊंची चारदीवारी बनाई गई है जिससे हमारा विद्यालय काफी सुरक्षित है। हमारे विद्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रमों और बहुत सारी प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाता है, जिसमें हम सभी को भाग लेना होता है। हम सभी उसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। हमारे विद्यालय में योग की भी क्लास कराई जाती है। जिससे हमें प्रकृति को जानने का अवसर मिलता है योग से मन को शांति मिलती है। मुझे मेरा विद्यालय जाना बहुत अच्छा लगता है।

आदर्श विद्यालय निबंध पर अपनी प्रतिक्रिया दीजिये👇

5 thoughts on “Mera Vidyalaya Essay in Hindi | मेरा विद्यालय निबंध | My School Essay in Hindi 2022”

  1. आपने मेरा स्कूल निबंध बहोत अच्छे से लिखा है, मुझे बहोत पसंद आया।

    Reply

Leave a Comment